Friday, October 19, 2012

Durga Hai Meri Maa, Ambe Hai Meri Maa

जयकारा शेरावाली का
बोलो साचे दरबार की जय


दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ 
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ
जय बोलो 
जय माता दी 
जय हो 
जो भी दर पे आए... जय हो 
वो खाली न जाए... जय हो 
सबके काम है करती... जय हो 
सबके दुखरे हरती... जय हो 
मैया मेरी शेरोवाली भर दे झोली खाली... जय हो
मैया मेरी शेरोवाली भर दे झोली खाली... जय हो
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ 
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ...

सारे जग को खेल खिलाये
सारे जग को खेल खिलाये
बिछड़ों को जो खूब मिलाये 

बिछड़ों 
को जो खूब मिलाये... दुर्गे... शेरोवालिये

बिछड़ों 
को जो खूब मिलाये 
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ...

पूरे करे अरमान जो सारे, 
देती है वरदान जो सारे 
पूरे करे अरमान जो सारे,
देती है वरदान जो सारे... दुर्गे... 
शेरोवालिये
देती है वरदान जो सारे
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ...

No comments:

Post a Comment